Indian History

 मुगल साम्राज्य का विघटन

 मुगल साम्राज्य का विघटन

.बहादुरशाह प्रथम (1707-12 ई.) औरंगजेब की मृत्यु के बाद उसके सबसे बड़े पत्र ‘मुहम्मद मुअज्जम’ ने बहादुरशाह के नाम से मुगल सिंहासन संभाला। .

* बहादुर शाह ने औरंगजेब द्वारा लगाए गए जजिया कर को पुनः हटा लिया।

फर्रुखसियर (1713-1719ई.)

* 1717 ई. में फर्रुखसियर ने एक फरमान जारी किया जिसमें अंग्रेजों को तीन हजार वार्षिक कर देकर बंगाल में बिना अतिरिक्त चुंगी दिए व्यापार करने के लिए अधि कार की पुष्टि की गई।

मुहम्मद शाह (1719-1748 ई.)

* रफी-उद-दौला के बाद सैय्ययद बंधुओं ने जहानशाह के पुत्र रौशन अख्तर को मुहम्मदशाह के नाम से 28 सितंबर, 1719 को दिल्ली की गद्दी पर बैठाया। मुहम्मदशाह एक विलास प्रिय शासक था और मदिरा तथा सुन्दर युवतियों के प्रति इसका रूझान अधिक था।, इस कारण इसे ‘रंगीला’ भी कहा गया।.

* मुहम्मद शाह के शासनकाल में फारस (ईरान) के नादिरशाह ने 1738-39 ई. के बीच भारत पर आक्रमण किया।

नादिरशाह का आक्रमण (1739 ई.)

  • ईरान का शासक नादिरशाह ने 1738 में काबुल, जलालाबाद और पेशावर पर कब्जा कर लिया तथा 1739 में लाहौर पर कब्जा करते हुए दिल्ली की ओर तेजी से बढ़ा।

* 13 फरवरी, 1739 को करनाल के निकट नादिरशाह एवं मुगल . सेनाओं के बीच युद्ध हुआ जिसमें मुगल सेना हार गई।

*  नादिरशाह ने 20 मार्च, 1739 ई. को दिल्ली में प्रवेश किया और बड़े पैमाने पर कत्ले आम को अंजाम दिया।

* 57 दिन तक दिल्ली में लूट-पाट मचाने के बाद नादिरशा ईरान के लिए रवाना हुआ।

* जाते समय नादिरशाह ने प्रसिद्ध मुगल राजसिंहास तख्तए-ताऊस (मयूर सिंहासन), जिसका निर्माण शाहजह ने कराया था जिसमें विश्व प्रसिद्ध कोहिनूर हीरा लगा था,भी अपने साथ ले गया।

शाह आलम द्वितीय (1759-1806 ई.)

शाह आलम द्वितीय और उसके उत्तराधिकारी केवल नाममात्र के सम्राट थे और अपने अमीरों, मराठों अथवा अंग्रेजों के हाथों की कठपुतलियाँ थे।

* शाह आलम द्वितीय के समय में पानीपत का तृतीय  युद्ध (1761 ई.) तथा बक्सर का युद्ध (1764 ई.)

* 1764 ई. में शाह आलम द्वितीय ने बंगाल के नवाब मीरकासिम एवं अवध के नवाब शुजाउद्दौला के साथ बक्सर के युद्ध में भाग लिया।

* बक्सर के युद्ध में पराजित होने के बाद शाह आलम द्वितीय को 1765 ई. में ईस्ट इण्डिया कम्पनी (अंग्रेजों) से इलाहाबाद की सन्धि करनी पड़ी।

* शाहआलम के शासनकाल में ही 1803 ई. में अंग्रेजों ने दिल्ली पर कब्जा किया।

बहादुरशाह द्वितीय (1837-1857 ई.)

* यह अन्तिम मुगल शासक था।

* बहादुरशाह द्वितीय जफर के नाम से कविता तथा शायरी लिखते थे इसलिए वह बहादुरशाह जफर के नाम से प्रसिद्ध थे। 1857 के विद्रोह में विद्रोहियों का साथ देने के कारण अंग्रेज सरकार ने इन्हें गिरफ्तार कर रंगून निर्वासित कर दिया जहाँ 1862 ई. में इसकी मृत्यु हो गयी

IMP. QUESTIONS

  1. औरंगजेब की 1707 ई. में मृत्यु होने के बाद सत्ता किसने संभाली? — बहादुर शाह प्रथम
  2. किस मुगल सम्राट ने अंग्रेजों को बंगाल में शुल्क-मुक्त व्यापार . की सुविधा प्रदान की थी?फर्रुखसियर
  3. मयूर सिंहासन पर बैठने वाला अंतिम मुगल सम्राट कौन था—मुहम्मद शाह
  4. नादिरशाह के आक्रमण के समय मुगल शासक था —मुहम्मद शाह
  5. किसके शासन में हिजड़ों और महिलाओं के एक वर्ग काप्रभुत्व था? —मुहम्मद शाह (1719-48 ई.)
  6. कौनसा मुगल बादशाह ‘रंगीला’ के नाम से जाना जाता है?— मुहम्मद शाह
  7. भारत का अन्तिम मुगल सम्राट कौन था?  —बहादुर शाह जफर
  8. महाराजा जयसिंह द्वितीय ने पांच वेधशालाएँ कहाँ बनवाई थी? —दिल्ली, उज्जैन, मथुरा, वाराणसी (बनारस), जयपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *